अदाकारा सुजाता मेहता को मिला बेस्ट ऎक्ट्रेस व लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड, फिल्म ‘मुद्दा 370 जम्मू एंड कश्मीर’ के लिए “प्राइम इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल” में हुईं सम्मानित

सिनेमा की विख्यात अदाकारा सुजाता मेहता को उनकी फिल्म ‘मुद्दा 370 जम्मू एंड कश्मीर’ के लिए “प्राइम इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल 2022″ में बेस्ट ऎक्ट्रेस के अवार्ड से नवाजा गया, साथ ही उन्हें लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड भी दिया गया। राकेश सावंत के डायरेक्शन में बनी यह फिल्म कश्मीर से हुए पलायन के दर्द की कहानी बड़े पर्दे पर पेश करती है। सुजाता मेहता ने बेस्ट ऎक्ट्रेस और लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड प्राप्त करने के बाद कहा कि मुझे बेहद खुशी है कि इस फ़िल्म के लिए मुझे यह सम्मान मिला। मैं फ़िल्म के निर्देशक राकेश सावंत और पूरी टीम को धन्यवाद कहना चाहती हूँ। साथ ही इस अवार्ड के आयोजक और ज्यूरी मेम्बर्स का भी दिल से शुकिया। यह रोल मेरे लिए काफी चैलेंजिंग था और यह फ़िल्म बेहद प्रभावी बनी है।”

आपको बता दें कि सुजाता मेहता ने बॉलीवुड की ढेर सारी फिल्मों में अभिनय किया है। प्रतिघात (1987) में उन्होंने लीड रोल किया था जबकि यतीम (1988) और गुनाह (1993) में उन्होंने सपोर्टिंग रोल किया था। उन्होंने नेशनल अवार्ड विनर मलयालम फ़िल्म पुरुषार्थम (1987) में लीड रोल किया था।

उल्लेखनीय है कि हितेन तेजवानी, मोहन जोशी, जरीना वहाब और अंजली पांडे की मुख्य भूमिका वाली इस फिल्म में राखी सावंत का एक आइटम नंबर भी है उसे बॉलीवुड की लीजेंड सिंगर आशा भोसले जी ने आवाज़ दी है. इस फिल्म की काफी शूटिंग उत्तराखण्ड में की गई थी।

फ़िल्म की स्टोरी एक कश्मीरी पंडित लड़के और एक कश्मीरी मुस्लिम लड़की की प्रेम कहानी पर आधारित है। धारा 370 की वजह से क्या असर पड़ा, फ़िल्म में यही दर्शाया गया है. फ़िल्म में जरीना वहाब कश्मीरी पंडिताइन के रोल में है. उनके पति का रोल मनोज जोशी ने अदा किया है. फिल्म में हितेन तेजवानी, अंजली पांडे, मनोज जोशी, राज जुत्शी, जरीना वहाब, पंकज धीर, अनीता राज, मोहन कपूर, सुजाता मेहता, अंजन श्रीवास्तव, शाहबाज खान, मास्टर अयान और राखी सावंत के अलावा आदिता जैन और तन्वी टंडन जैसे कई कलाकार हैं.

इस फिल्म के संगीतकार सय्यद अहमद, साहिल मल्टी खान और राहुल भट्ट हैं जबकि गीत लिखे हैं निसार अख्तर, सीमा भट्ट, शाहिद अंजुम ने. फिल्म में आशा भोसले, शान, पलक मुछाल, असीस कौर, शाहिद माल्या, मुद्दसर अली जैसे सिंगर्स हैं.

यह फिल्म उन विस्थापित कश्मीरी पंडितों की दास्तां कहती है, उनके जख्मों, उनके दर्द और उनकी पीड़ा को दिखाती है जो अपनी ही जमीन पे शरणार्थी जैसे बन गए थे।

अदाकारा सुजाता मेहता को मिला बेस्ट ऎक्ट्रेस व लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड, फिल्म ‘मुद्दा 370 जम्मू एंड कश्मीर’ के लिए “प्राइम इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल” में हुईं सम्मानित

Print Friendly, PDF & Email
Author: admin